हाल-फिलहाल: रुपये 500 मात्र में राजस्थान दर्शन !!

राजस्थान में गुर्जर आन्दोलित है और सामान्य जान-जीवन रेत फाक रहा है। पर ये आन्दोलन एक मौका भी हो सकता है। रुपये 500 मात्र में राजस्थान दर्शन का !! राजस्थान से चलने वाली रेलगाड़ियाँ मार्ग बदल बदल कर हर आम और खास स्टेशन को छू कर शक्ति और सामर्थ्य का प्रदर्शन कर रही है।यदि आप रेल में बैठ गये तो समूचा राजस्थान आपकी जद में होगा। साथ ही साथ ये आपकी सामर्थ्य और सहनशीलता का परीक्षण भी होगा। जब पर 45 डिग्री सेल्सियस को पार कर रहा हो, और ऐसे में 14 घण्टे का सफर 35 घण्टे में बदल जाये, खाद्य और रसद सामग्री पहले ही आपकी भूख की भेट चढ़ चुकी हो तो सहनशीलता का परीक्षण तय है। और हो भी क्यों का जब गुर्जर बल प्रदर्शन की विधा में अपनी दक्षता साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे तो आम आदमी क्यों छोड़े। साथ ही साथ देशाटन का अपना आनन्द है खासकर तब जब टूटती हुयी सड़कों , उखड़ती हुयी रेल पटरियों, जलती हुयी सार्वजानिक सम्पत्तियों को जीवन्त और ज्वलन्त देखने का मौका मिले। सो एक बार राजस्थान जाये जरूर। हाँ अच्छे दिनों की खोज में भी सहयोग मिलने की बड़ी उम्मीद है। देश के बड़े भूभाग में कहीं का कहीं अच्छे दिन मिल ही जायेगे ना मिले तो भी क्या। कुल 500 ही खर्च होगे। पानी की व्यवस्था सरकारी है। खाना पैक करके जाये। बच्चे इत्यादि नाना नानी के घर ही छोड़ जाये तो बेहतर।
              "जनजीवन अस्त-व्यस्त
              लोकतन्त्र पस्त
              व्यवस्था ध्वस्त
              हो जाये इस सबके अभ्यस्त"

Post a Comment